Blog


नशे की लत से कैसे करें, खुद का बचाव !

नशे की लत के क्या है, लक्षण, कारण व बचाव के तरीके !

August 16, 2023

774 Views

नशा जिसका आगमन जिस घर में एक बार हो जाता है, तो उस घर की बर्बादी निश्चित है, ठीक वैसे ही अगर आप या आपके परिवार में कोई इस लत का शिकार हो गया है तो आप कैसे उन्हें इस लत से बाहर निकालने में सक्षम हो पाते है, इसके बारे में आज के लेख में चर्चा करेंगे ;

नशे की लत क्या है ? 

  • नशे की लत या किसी नशे की चीज का एडिक्शन होना एक मानसिक बीमारी है जो किसी एक चीज (शराब, ड्रग्स) के लगातार उपयोग के कारण होती है। इसके अलावा इन नशे की चीजों का सेवन करने वाला व्यक्ति जानता है कि इसका हेल्थ पर काफी बुरा असर पड़ सकता है, लेकिन इसके बावजूद वह इसका इस्तेमाल करता रहता है।
  • वहीं नशे की चीजों का सेवन करने से दिमाग के काम करने के तरीके में काफी बदलाव आने लगता है। 
  • नशे की लत से जूझ रहे लोगों में नशा करने की मात्रा में धीरे-धीरे बढ़ोतरी नज़र आने लगती है।

नशे के कारण अगर आपका दिमाग अच्छे से कार्य करने में असमर्थ है तो इसके लिए आपको पंजाब में मानसिक रोग विशेषज्ञ का चयन करना चाहिए।

 

कैसे पहचाने की व्यक्ति नशे की लत का शिकार हो गया है ?

  • नशा कई तरह से होता है और हर तरीके के नशे की लत के स्तर को पता करने का तरीका अलग है। वहीं अपने अंदर आए इन तरीकों से आप नशे की लत का पता लगा सकते है, जैसे –
  • न चाहते हुए भी नशा करना और ऐसी अवस्था में व्यक्ति को पता होता है की नशे का बुरा प्रभाव पड़ता है या इसका असर बुरा होता है लेकिन इसके बावजूद भी व्यक्ति इसको करता है। 
  • नशे के कारण व्यक्ति के काम या पढ़ाई का काफी लॉस होता है। ऐसे में अगर छात्र इससे जूझ रहें है, तो उनकी पढ़ाई प्रभावित होगी और कोई काम काजी व्यक्ति इसका शिकार है, तो उनकी प्रोडक्टिविटी पर काफी असर पड़ेगा।
  • नशे की लत की वजह से खर्चे का बढ़ना, और नशे का लती व्यक्ति आर्थिक रूप से हमेशा परेशान रहता है। और कई बार तो ऐसा होता है की वो नशे की लत को पूरा करने के लिए चोरी करने तक पर उतर आता है।

 

नशे की लत के क्या कारण है ?

  • नशे की लत का कारण मानसिक रूप से स्वास्थ्य न रहना है। 
  • आसानी से किसी के साथ जुड़ने में दिक्तत का सामना कर रहें लोग भी इस लत का शिकार हो रहें है। 
  • कार्यस्थल या स्कूल में ख़राब प्रदर्शन। 
  • तनाव को दूर करने में परेशानी का सामना करने वालें लोग भी इस लत का शिकार हो जाते है। 

यदि व्यक्ति मानसिक परेशानी से जूझने के कारण नशे की लत की और बढ़ गया है, तो इससे बचाव के लिए व्यक्ति को लुधियाना में बेस्ट साइकेट्रिस्ट का चयन करना चाहिए।

 

नशे की लत से कैसे करें खुद का बचाव ?

  • यदि आप न चाहते हुए भी नशा कर रहें है तो इससे बचाव के लिए आपको इसे एकदम से नहीं छोड़ना है बल्कि इसे आप धीरे-धीरे छोड़ने की आदत को डालें। क्युकी कहते है न की अगर किसी चीज को पाने में 6 महीने लगें है तो उसको छोड़ने में 8 से 10 महीने तो आसानी से लग सकते है। लेकिन कोशिश यही करनी है की इससे दुरी जल्दी बनाई जाए। 
  • नशा छोड़ने में सबसे बड़ी भूमिका मजबूत मन निभाता है। अगर आपने फैसला कर लिया है कि आप दोबारा नशे को हाथ नहीं लगाएंगे, तो पहले मन में आत्मविश्वास बढ़ाएं। खुद पर भरोसा करना शुरू करें कि इस काम को फिर से नहीं दोहराएंगे।
  • कई बार व्यक्ति नशे का शिकार किसी बीमारी के कारण होता है, इसलिए जरूरी है की अगर व्यक्ति किसी पुराणी बीमारी से काफी लंबे समस्य से जूझ रहा है तो उसको उस बीमारी से बाहर निकाले। 
  • बुरी संगत और बुरी चीजों से दुरी बनाकर रखें, क्युकी वो कहावत तो आपने सुनी ही होगी की एक मछली सारे तालाब को गंदा करती है, ठीक यही कहावत नशा करने वाले लोगों को साथ रखने से भी सही साबित होती है। 
  • नशे से बचाव के लिए आपको अपनी लाइफस्टाइल और दिनचर्या में बदलाव लाना होगा तभी जाकर आप इस लत से खुद को बाहर निकालने में कारगर साबित होंगे। इसके अलावा अपने रोजाना की दिनचर्या में योग व्यायाम को जरूर शामिल करें।

 

सुझाव :

अगर नशा आपके मानसिक परेशानी की वजह है तो इससे बचाव के लिए आपको मानस हॉस्पिटल का चयन करना चाहिए। 

 

निष्कर्ष :

नशे का कितना ही बुरा लती क्यों न हो अगर वो उपरोक्त बातों को मान लें तो उसके बुरे से बुरे नशे के लत को चुटकियों में दूर किया जा सकता है।