Blog


क्या एंग्जायटी (चिंता) और एसिड रिफ्लक्स के आपसी संबंध पेट की समस्या को उत्पन्न कर सकते है ?

July 25, 2023

594 Views

एसिड रिफ्लक्स सामान्यतः तब होता है जब पेट में एसिड वापिस भोजन नली में चला जाता है और ऐसा इसलिए होता है जब हमारे द्वारा बहुत ज्यादा तनाव लिया जाता है। वही एसिड रिफ्लक्स क्या है और इससे हम कैसे खुद का बचाव कर सकते है, इसके बारे में आज के लेख में चर्चा करेंगे ;

 

क्या है एसिड रिफ्लक्स ?

  • विशेषज्ञों की मानें तो जब पेट में एसिड अधिक उत्सर्जित होने लगती है, अथवा पेट में गैस यानी एसिडिटी की समस्या होती है, तो उसे एसिड रिफ्लक्स कहते है। इस दौरान एसिड भोजन नली से गले तक आ जाता है। जिससे कई बार खाना उल्टी के रूप में बाहर आने लगता है।
  • एसिड रिफ्लक्स के कारण कई बार हार्टबर्न (Heartburn) की समस्या भी होने लगती है जिससे सीने में जलन महसूस होती है।

 

क्या संबंध है एंग्जायटी और एसिड रिफ्लक्स का ?

  • एसिड रिफ्लक्स की बात करें तो इसका संबंध एंग्जायटी या चिंता के साथ जरूर होता है क्युकि एसिड रिफ्लक्स के अंदर पेट से जुडी हुई समस्या निकल कर सामने आती है। तो इस बात को समझना सामान्य है की जब व्यक्ति के पेट में किसी भी तरह की परेशानी होगी तो वो चिंता का शिकार जरूर होगा। इसलिए एंग्जायटी और एसिड रिफ्लक्स का आपसी गहरा संबंध है। 
  • इसके अलावा जो व्यक्ति ज्यादा चिंता में रहते है तो उनमे एसिड रिफ्लक्स के लक्षण और बढ़ सकते है। 
  • वही कुछ अध्यनों में ये बात भी सामने आई है की एसिड रिफ्लक्स की वजह से व्यक्ति सीने में जलन व दर्द की समस्या का सामना कर सकता है। 

यदि आप एसिड रिफ्लक्स की वजह से चिंता जैसी समस्या का सामना कर रहें है तो इससे बचाव के लिए आपको मानसिक रोग विशेषज्ञ पंजाब का चयन करना चाहिए।

 

एसिड रिफ्लक्स के लक्षण क्या है ?

इसके कुछ लक्षणों को हम निम्न प्रस्तुत कर रहें ;

  • उल्टी की समस्या। 
  • बदबू दार सांस। 
  • पेट ख़राब। 
  • छाती में दर्द। 
  • पेट में दर्द। 
  • किसी भी खाने की चीज को निगलने में दिक्कत का सामना करना आदि।

 

क्या एंग्जायटी कारण है एसिड रिफ्लक्स का ?

  • एंग्जायटी से एसिड रिफ्लक्स का होना एक महत्वपूर्ण कारण​​ है, वही जब कोई व्यक्ति लंबे समय तक तनाव में रहता है, तो मांसपेशियों में भी तनाव पैदा होने लगता है। 
  • पेट का फूलना या एसिड रिफ्लक्स तब होता है जब आंत तनाव के कारण अपच और अन्य समस्याओं की वजह से अनियंत्रित हो जाती है। 
  • जब हमारे द्वारा बहुत ज्यादा तनाव लिया जाता है तो ये तनाव आपके पेट में एसिड की समस्या को उत्पन्न कर सकता है। 

यदि आप एसिड रिफ्लक्स की वजह से किसी मानसिक बीमारी या तनाव का सामना कर रहें है, तो इससे बचाव के लिए आप लुधियाना में बेस्ट साइकेट्रिस्ट के संपर्क में आए।

 

एंग्जायटी और एसिड रिफ्लक्स से कैसे करें खुद का बचाव ?

  • आपको सोने से कम से कम 3 घंटे पहले खाना खा लेना चाहिए। 
  • ज्यादा फैट वाले भोजन खाने से बचे। 
  • कैफीन, ज्यादा मसालेदार चीजे, फ़ास्ट फ़ूड खाने से बचे। 
  • वही एंग्जायटी से बचने के लिए रोजाना ध्यान लगाए। 
  • योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करें। 

यदि आप उपरोक्त बातो का ध्यान रखते है तो आप इन दोनों तरह की समस्या से खुद का बचाव कर सकते है।

 

सुझाव :

यदि आप एंग्जायटी या चिंता के कारण एसिड रिफ्लक्स जैसी गंभीर समस्या का सामना कर रहें है तो इससे बचाव के लिए आपको मानस हॉस्पिटल का चयन करना चाहिए। क्युकी अगर आप मासिक तौर पर ठीक हो जाते है तो आपकी एसिड रिफ्लक्स की समस्या भी ख़त्म हो सकती है।

 

निष्कर्ष :

यदि आप शारीरिक और मानसिक रूप से स्वास्थ्य रहना चाहते है, तो इसके लिए आपको एंग्जायटी और एसिड रिफ्लक्स के कारणों पर खास ध्यान रखना चाहिए।