Blog


साइकेट्रिस्ट-की-मदद-से-कैसे-निकले-डिप्रेशन-से-बाहर

डिप्रेशन के कारण शरीर के विभिन्न अंगों में है दर्द, तो हो जाए सावधान !

April 28, 2023

856 Views

आज कल के भाग-दौड़ भरी जिंदगी में हर एक व्यक्ति किसी न किसी चिंतन में रहता है। फिर चाहे वो चिंता कॅरिअर को लेकर हो, या आधुनिक ज़िन्दगी को लेकर हो। इस चिंतन की वजह से ही वो डिप्रेशन का शिकार होता जा रहा है। तो आज के लेख में हम बात करेंगे कि डिप्रेशन होता किस वजह से है और इसकी वजह से शरीर के किस-किस अंग में दर्द होता है।

डिप्रेशन होता क्यों है ?

  • डिप्रेशन की बीमारी तब उत्पन होती है जब हमारा दिमाग हद्द से ज्यादा चीजों के बारे में सोचने लगता है। जिस वजह से ये समस्या उत्पन होती है। 
  • किसी अपने से बिछड़ने का दुःख, असफलता और संघर्ष की वजह से होने वाला दुःख तो सामान्य है। 
  • इसके इलावा दुःख, लाचारी, निराशा,उदासपन जैसी भावनाएं कुछ दिनों से लेकर कुछ महीनों तक बनी रहती है और व्यक्ति को सामान्य रूप से अपनी दिनचर्या को जारी रखने में भी परेशानी बनी रहती है। तो यह डिप्रेशन नामक मानसिक रोग का संकेत हो सकता है।

यदि आप भी असहनीय सोचने की समस्या या डिप्रेशन से परेशान है और इससे निजात पाना चाहते है, तो बेस्ट साइकेट्रिस्ट लुधियाना से सम्पर्क करे। 

डिप्रेशन की वजह से शरीर के किस अंग में दर्द रहता है ?

डिप्रेशन की वजह से शरीर के अंधरुनि अंगो में काफी दर्द रहता है, जिनका वर्णन हम निम्न में करेंगे ;

  • पेट में तेज दर्द और ऐंठन की वजह से मष्तिष्क में डिप्रेशन की समस्या उत्पन हो सकती है।
  • मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य का प्रभाव आंखों की रोशनी पर भी पड़ता है। इसलिए ज्यादा चिंता न ले। 
  • डिप्रेशन की वजह से हमारे पूरे शरीर खास कर ​कमर और मासंपेशियों में दर्द का बना रहना। 
  • डिप्रेशन की वजह से कई बार असहनीय और न बर्दाश्‍त करने वाला दर्द उत्पन हो जाता है। 
  • ज्यादा थकावट को भी डिप्रेशन की श्रृंखला में शामिल किया जाता है। 

डिप्रेशन की वजह से शरीर के विभिन्न अंगो में अत्यधिक पीड़ा से यदि आप परेशान है, तो इससे निजात पाने के लिए मानसिक रोग विशेषज्ञ पंजाब से जरूर सम्पर्क करे।

क्या डिप्रेशन का जड़ से खात्मा हो सकता है ?

बिल्कुल हो सकता है, यदि आप निम्न बातो को अपनी दिनचर्या में शामिल कर लो तो, जैसे ;

  • बहुत ही शोध करने के बाद ये नतीजा सामने आया है, कि मेडिटेशन और इसके विभिन्न आयामों की मदद से व्यक्ति डिप्रेशन से बाहर निकल सकता है। 
  • आपको क्या खाना पंसद है, कौन सा खेल पसंद है, कहा घुमना अच्छा लगता है या तैराकी करना या फिर कुछ और जिसे करने को आपका मन उतावला रहता है। उसे यदि आप करते है, तो आप आसानी से डिप्रेशन से बाहर आने में सक्षम हो पाते है। 

सुझाव :

डिप्रेशन काफी गंभीर समस्या है, जिसको आपने उपरोक्त बातो से जान ही लिया है। तो आप अगर इससे निजात पाना चाहते है तो बिना समय गवाए मानस हॉस्पिटल से सम्पर्क करे क्युकि इस हॉस्पिटल में आप साइकेट्रिस्ट की मदद से डिप्रेशन के बारे में अच्छे से जान कर इससे बहार निकल सकते है। 

निष्कर्ष :

बच्चे हो या नौजवान सभी आज के समय में डिप्रेशन का शिकार होते जा रहे है। जिसकी वजह से उन्हें उपरोक्त परेशानियों का सामना करना पड़ता है। तो आप भी अगर डिप्रेशन का शिकार हो गए है तो बिना समय गवाए मानस हॉस्पिटल से बेस्ट साइकेट्रिस्ट का चुनाव करे, और इस समस्या से हमेशा के लिए निजात पाए।